IMG 20210424 WA0039
IMG 20210424 WA0039

नशे का आदी व्यक्ति परिवार और समाज के लिए अभिशाप: झींंजर
शिक्षा विभाग के जूनियर रेड क्रॉस काउंसलर अध्यापकों ने चलाया नशा मुक्ति अभियान
गुहला चीका: 24 अप्रैल 2021
जिला उपायुक्त सुजान सिंह के मार्गदर्शन तथा जिला शिक्षा अधिकारी अनिल शर्मा व जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी दिलीप सिंह के नेतृत्व में शिक्षा विभाग के जूनियर रेड क्रॉस काउंसलर अध्यापकों द्वारा जिले में कोरोनावायरस, रक्तदान, कोरोना वैक्सीन, नशा मुक्ति, स्वच्छता इत्यादि के बारे में लोगों को निरंतर जागरूक किया जा रहा है। गुहला उपमंडल के गांव पीडल में जिला जूनियर रेड क्रॉस काउंसलर गोल्ड मेडलिस्ट प्राध्यापक राजा सिंह झींंजर द्वारा एक नशा मुक्ति जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें लोगों को जागरूक करते हुए झींजर ने कहा कि नशेड़ी व्यक्ति अपने परिवार की खुशहाली और सामाजिक विकास में जहां अभिशाप साबित होता है वहीं राष्ट्र के विकास में उसका कोई योगदान नहीं रहता। उन्होंने कहा कि युवाओं में मादक द्रव्य पदार्थों का बढ़ता प्रचलन चिंता का गंभीर विषय है और इसके दुरुपयोग ने जहां दिलों दिमाग और सोचने समझने की शक्ति को नष्ट किया है वहीं अनेक गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दिया है। झींजर ने कहा कि नशेड़ी व्यक्ति तो लड़ाई झगड़े, चोरी, हिंसा और अपराध से जुड़कर एक सामाजिक कलंक बनकर रह जाता है और अंत में वह पाप की गठरी बांध कर इस संसार से परलोक सिधार जाता है। झींजर ने लोगों को नशीले पदार्थों के सेवन से दूर रहने की शपथ भी दिलाई। इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग से डॉक्टर सुशील शर्मा बेबी ने मादक द्रव्य दुरुपयोग को एचआईवी, हेपेटाइटिस तपेदिक जैसी गंभीर बीमारियों का कारण बताया। शर्मा ने कहा कि नशे की लत को प्रबल इच्छा शक्ति से रोका जा सकता है। उन्होंने कहा कि मादक पदार्थों एवं ड्रग्स की लत भूख व वजन को कम करके कब्ज, चिंता और चिड़चिड़ापन बढ़ाती है। डॉ सुशील शर्मा ने चिंता जाहिर की कि आज युवाओं के साथ साथ बच्चों और महिलाओं में मादक पदार्थों का बढ़ता प्रचलन प्रबल चिंता का विषय है। इस अवसर पर समाजसेवी संतोष कुमारी उपस्थित लोगों को स्वच्छता का संदेश दिया। कार्यक्रम में लोगों को मास्क और सैनिटाइजर के साथ-साथ बिस्कुट पैकेट्स भी बांटे गए। गांव के सरपंच प्रतिनिधि नरेश कुमार न कार्यक्रम की तारीफ करते हुए कहा कि समाज में नशीले पदार्थोंं के दुष्परिणाम बारे लोगों को जागरूक रखने की जरूरत है। उन्होंनेे कहा कि नशीले पदार्थों का सेवन चिंताओं से मुक्ति नहीं दिलाता बल्कि अपमानित जीवन और मौत का कारण बनता है। इस अवसर पर राहुल, रेनू, गुरप्रीत, विनोद, इदार, कृष्ण, मनोज, भतेरी, सतनाम सिंह, भरत, विजय कुमार, सुरेश कुुमार सहीत अनेक ईट भट्ठा मजदूर उपस्थित थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here