गुहला चीका 7 अप्रैल (राजपाल जिंदल) भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी हमेशा जरूरतमंद एवं बेसहारा लोगों की सहयोग और सेवा की महान संस्था रही है। आकस्मिक दुर्घटना एवं प्राकृतिक आपदा से प्रभावित तथा युद्ध के समय घायल सैनिकों की सहयोग और सेवा में इसके महान वालंटियर हमेशा प्रथम पंक्ति में रहते हैं। यह विचार विश्व स्वास्थ्य दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए जिला जूनियर रेड क्रॉस काउंसलर गोल्ड मेडलिस्ट प्राध्यापक राजा सिंह झींंजर ने कहे। उन्होंने कहा कि जीवन का पहला सुख निरोगी काया है जिसे पूरी सतर्कता से ही कायम रखा जा सकता है। उन्होंने कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि हम जानकारी और समझदारी के साथ ही इस वैश्विक महामारी से लड़ सकते हैं। उन्होंने लोगों को टीकाकरण, मास्क लगाने तथा सामाजिक दूरी बनाकर रहने की प्रेरणा दी। कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग से डॉ सुशील शर्मा बेबी ने लोगों के स्वास्थ्य को जांचा और आवश्यक दवाइयां वितरित की। डॉ शर्मा ने कहा कि आज स्वच्छता के द्वारा ही हम बहुत सारी बीमारियों से निजात पा सकते हैं। उन्होंने उपस्थित लोगों को नशीले पदार्थों के सेवन से बचने पर बल दिया। डॉ शर्मा ने कहा कि लोगों को समुचित खानपान, व्यायाम, योग और मेडिटेशन पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। पीडल गांव के सरपंच मनीषा देवी ने जागरूकता टीम की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस प्रकार की सामाजिक भावना समाज में मानवता का संदेश देती है और लोग सहयोग और सेवा की भावना से कभी पीछे नहीं रहते। मनीषा देवी ने कहा कि पोस्टिक आहार और स्वच्छता से ही हम अपने स्वास्थ्य को कायम रख सकते हैं और स्वस्थ व्यक्ति ही समाज को स्वस्थ रखने में सबसे बड़ी भूमिका रखता है। भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी के जूनियर रेड क्रॉस काउंसलर्स द्वारा 200 लोगों को मुफ्त मास्क और सैनिटाइजर के साथ-साथ नंगे पैर घूम रहे 70 गरीब बच्चों को जूते और चप्पल मुफ्त बांटे गए। इस अवसर पर संतोष कुमारी, भतेरी, कृष्णा कुमारी, राहुल, विनोद, राजबाला, सुनहरी देवी, संतरा, जम्मू, रामकमार, घनश्याम सहित सैकड़ों मजदूर उपस्थित थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here