गुहला चीका नशीले पदार्थों का सेवन एक ऐसी सामाजिक बुराई है जो आदत बन कर अनेक बीमारियों को जन्म देती है। समाज में नशीले पदार्थों का बढ़ता सेवन सामाजिक पिछड़ेपन का बहुत बड़ा कारण है। यह विचार शहर के प्रसिद्ध समाजसेवी भगवानदास जैन ने गांव पीडल में भारतीय रेड क्रॉस सोसायटी द्वारा आयोजित नशा मुक्ति जागरूकता कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए कहे। भगवानदास जैन ने कहा कि नशे से ग्रस्त व्यक्ति जहां अच्छे बुरे की पहचान खो देता है वहीं पारिवारिक गरीबी का कारण भी बनता है। जैन ने कहा कि हमारे आदि ग्रंथ और महान संतों ने हमेशा नशीली वस्तुओं का त्याग कर सादा जीवन जीने पर जोर दिया है। जिला जूनियर रेड क्रॉस काउंसलर गोल्ड मेडलिस्ट प्राध्यापक राजा सिंह झींंजर ने कहा कि जीवन को तबाह करने वाली इस सामाजिक बुराई को कठोर कानून एवं दंड से नहीं मिटाया जा सकता जबकि हम सबकी सामाजिक जन जागरूकता, चेतना और एकजुटता इस बुराई के लिए जरूरी है। भगवाानदास जैन ने कार्यक्रम की शुरुआत उपस्थित बच्चों एवं लोगों में मिठाई और बिस्कुट बांटकर की। झींजर ने कहा कि नशेड़ी व्यक्ति जहां अपने परिवार और आस-पड़ोस के लिए अभिशाप साबित होता है वहीं वह सामाजिक मान मर्यादा को नष्ट कर पाप की गठरी बांध इस संसार से अलविदा हो जाता है। उन्होंने कहा कि आज हमें नशे के दुष्परिणामों को अनदेखा नहीं करना चाहिए। झींजर ने उपस्थित महिलाओं, बच्चों एवं लोगों को नशामुक्ति की शपथ दिलाई। झींजर ने कहा कि भारतीय रेड क्रॉस सोसायटी हमेशा समाज के बेसहारा एवं जरूरतमंद लोगों की दुख की घड़ी में साथ खड़ी होकर मानवता का काम करती है। कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग से डॉक्टर सुशीला शर्मा बेबी ने महिलाओं और बच्चों को सचेत किया कि अगर घर परिवार में अमन और शांति चाहते हैं तो आज हमें नशे की बढ़ती प्रवृत्ति से परिवारों को बचाना होगा। उन्होंने पुरुषों के साथ साथ महिलाओं एवं युवाओं में बढ़ता नशे का प्रचलन समाज एवं राष्ट्र के लिए गंभीर खतरा बताया। कार्यक्रम में ईट भट्टे पर नंगे पांव पत्थेर का काम करने वाले सैकड़ों महिलाओं, बच्चों और पुरुषों को चप्पल जूते बांटे गए। इस अवसर पर महिला मंडल प्रभारी संतोोष कुमारी, ठेकेदार सुरेश शर्मा, मोनू राम, भरथुुुु, संतुु, कबीर, रामलाल, धनीराम, बंटी, संतोषी, अन्नू, कपूरी, भरताई सहित सैकड़ों ईट भट्ठाठा मज़दूर उपस्थित थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here