गुहला विधायक ईश्वर सिंह ने गुहला में कोविड-19 की स्थिति को लेकर की प्रेसवार्ता ,

नगरपालिका क्षेत्र की तंग गलियों में सेनिटाईज करने के लिए नगरपालिका चीका की चेयरपर्सन अमनदीप शर्मा को सौंपी सेनिटाईज मशीन

गुहलाचीका (कैथल )

वैश्विक महामारी पर अंकुश लगाने के लिये प्रदेश सरकार निरंतर कार्य करते हुए इस पर रोक लगाने का कार्य कर रही है। लॉक डाउन के नियमों की सख्ती से पालना हो, इसके लिये प्रशासन व पुलिस विभाग को भी कड़े निर्देश दिये गये हैं। प्रदेश सरकार समय-समय पर एडवाईजरी जारी करके लोगों के हितों के लिये कार्य किया जा रहा है। शुक्रवार को विधायक चीका स्थित अपने निवास स्थान पर पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे | गुहला विधायक ने कहा कि सरकारी अस्पताल गुहला में कोविड-19 का पूरा प्रबंध है और हर स्थिति से निपटने के लिए पूरे इंतजाम किए गए हैं। इस अस्पताल में 100 बैड का स्पेशल आईसोलेशन वार्ड बनाया गया है, जिसमें 50 बैड पुरूष और 50 बैड महिला मरीजों के लिए बनाए गए हैं। अस्पताल में ओपीडी और एमरजेंसी युनिट अलग-अलग बनाए गए है ताकि लोग एकत्रित न हो। ऑक्सीजन और नेबुलाईजार का पूरा इंतजाम है, ब्लीचिंग सोडियम इत्यादि के साथ मास्क व सेनिटाइजर की बोतलों का पूरा इंतजाम किया गया है। उन्होंने बताया कि इस समय अस्पताल में 10 मरीज जो सस्पेक्टेड है, दाखिल है और उनके खाने, रहने का पूरा प्रबंध किया गया है। सिविल अस्पताल में पुलिस कर्मचारियों की भी डयूटी लगाई गई है ताकि कोई भी मरीज इधर-उधर न जा सके।विधायक ईश्वर सिंह ने कहा कि निरंतर लॉक डाउन की स्थिति में लोगों को किसी परेशानी की सामना न करना पड़े, इसके लिये स्वंय फिल्ड में उतरकर कार्य कर रहा हॅं। उन्होंने नगरपालिका क्षेत्र की तंग गलियों में सेनिटाईज करने के लिए नगरपालिका चीका की चेयरपर्सन अमनदीप शर्मा को सेनिटाईज मशीन सौंपी तथा एक गांव भागल के लिए और एक सेनिटाईज मशीन गांव सीवन में भिजवाई गई। उन्होंने कहा कि गुहला हलका के साथ लगती पंजाब सीमा पर पुलिस नाके लगाए गए हैं, इसके अलावा प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के हित के लिये भी फैसला लिया गया है, 15 अप्रैल से सरसों की खरीद व 20 अप्रैल से गेहूं की खरीद शुरू करने के मद्देनजर कुछ आवश्यक हिदायतें भी जारी की गई हैं ताकि किसान इन हिदायतों की अनुपालना के तहत अपनी फसलों को सुगमता से निर्धारित स्थानों पर बेच सकें। सुरक्षा की दृष्टि से मंडियों सैनिटाइज किया जा रहा हैं, वहीं सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखने बारे भी आने वाले किसानों को जागरूक करते हुए इसकी अनुपालना करने बारे भी प्रेरित किया जा रहा हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here